Khatushyamji Falgun mela 2018:Khatushaymji Falgun Mela Live Darshan

Khatu Shyam Ji. Baba Shyam’s Phalguni Lakhi Mela 2018 has been started for three days and the fair has slowly started flowing on its license. The path of 16 kms between Ringas and Khatushyamji has started appearing with devotees of Shyam. On Monday, on the day of Phalgun Shukla Tritiya, thousands of devotees visited Baba Shyam. In spite of the closure of the DJ and sound system, there is enthusiasm among the devotees. At the rate of Baba Shyam, the devotees who are walking on foot in the streets are feeding the cows with charity with charity. Rural people are selling green fodder in many places on the way between KhatuShyamji from Ringus. Baba’s court has been decorated in Dharamshalas and Temples pandals in many places between Ringus and Khatushyamji. People are also serving the devotees.

खाटूश्यामजी. बाबा श्याम का फाल्गुनी लक्खी मेला शुरू हुए तीन दिन हो गए है और मेला अब धीरे धीरे अपने परवान पर चढऩे लगा है। रींगस से खाटूश्यामजी के बीच 16 किलोमीटर का रास्ता श्याम के भक्तों से अटा नजर आने लगा है। सोमवार को फाल्गुन शुक्ल तृतीया के दिन हजारों भक्तों ने बाबा श्याम के दर्शन किए। डीजे और साउंड सिस्टम बंद होने के बावजूद भक्तों में उत्साह बना हुआ है। बाबा श्याम के दर पर पैदल आने वाले भक्त रास्ते में गोशालाओं में दान पुण्य के साथ गायों को चारा खिला रहे है। रींगस से खाटूश्यामजी के बीच रास्ते में कई जगहों पर ग्रामीण लोग हरा चारा बेच रहे हैं। रींगस से खाटूश्यामजी के बीच कई जगहों पर धर्मशालाओं और अस्थाई पांडालों में बाबा का दरबार सजा हुआ है। साथ ही लोग भक्तों की सेवा कर रहे हैं।

Khatushaymji Falgun Mela Live Darshan:दिनभर नहीं खुलते पट

खाटूश्यामजी के लक्खी मेले 2018 में आने वाले भक्तों की भीड़ को देखते हुए प्रशासन ने इस बार मेला अवधि को बढ़ाकर दस दिन से बारह दिन तो कर दिया है लेकिन मंदिर के पट दिनभर नहीं खुल रहे हैं। भक्तों को 24 घंटे श्याम के दीदार नहीं हो रहे हैं। बाबा श्याम को कोलकाता से आ रहे विशेष फूलों से श्रृंगारित किया जा रहा है। बंगाल से आए दो दर्जन से ज्यादा कारीगर ताजा एवं खुशबूदार ऑर्चिड, डॉल रोज, मोगरा, गेंदा, मुर्गन, स्वीट विलियम, रिंग चेरी, कारमिशन समेत रंग बिरंगे गुलाब के फूलों के साथ तुलसी दल से रोजाना मालाएं तैयार कर रहे हैं और इन्ही मालाओं से बाबा श्याम का भव्य एवं मनमोहक श्रृंगार किया जा रहा है।

श्रीश्याम भक्त मंडल धर्मशाला मंढ़ा मदनी से सोमवार को पांच सौ निशानों के साथ श्याम भक्तों के जत्थे ने बाबा श्याम को निशान अर्पित किए। संस्थान के अध्यक्ष सीताराम गोयल ने बताया कि हर वर्ष की भांति सैकड़ों भक्त यहां पहुंचे।

Khatushaymji Falgun Mela Live Darshan:अंधेरे में खाटू पहुंच रहे है पदयात्री

रात को अंधेर में भी पदयात्री खाटूश्यामजी पहुंच रहे हैं। आमेर से बाबा के दर्शन करने आए प्रमोद ने बताया कि वो रींगस से पैदल यात्रा कर खाटू पहुंचे, लेकिन रास्ते में प्रशासन की ओर से लाइट की कोई व्यवस्था नहीं किए जाने से अंधेर में उन्हे परेशानियों का सामना करना पड़ा। उनके साथ कई ओर भी पदयात्री थे।

Khatushaymji Falgun Mela Live Darshan:खाटूश्यामजी में खाद्य पदार्थों के लिए नमूने

खाटूश्यामजी मेले के दौरान खाद्य वस्तुओं में मिलावट की आशंका के चलते चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग बराबर नजर बनाए हुए है। सोमवार को लगातार दूसरे दिन भी रसद विभाग की टीम ने दुकानों से कई खाद्य पदार्थों के नमूने लिए है। खाद्य निरीक्षक फूलसिंह बाजिया और रतन गोदारा ने बताया कि ओम किराणा स्टोर से मिर्च पाउडर, श्याम सेल्स एजेंसी से क्षीर कम्पनी के पनीर व अमूल कम्पनी के बटर, नवीन किराणा स्टोर से कृष्णा घी, रामनिवास मुकेश स्टोर से सोया तेल के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे है। मेले का जायजा लेने के लिए अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस हेमंत प्रियदर्शी सोमवार को रींगस आए। प्रियदर्शी ने रींगस से खाटूश्यामजी तक के मेला मार्ग व अन्य कानून व्यवस्थाओं का जायजा लिया तथा आवश्यक दिशा निर्देष दिए। इस दौरान पुलिस महकमे के कई आलाअधिकारी भी मौजूद रहे।

Khatushaymji Falgun Mela Live Darshan:दिव्यांग अंजू चार साल से बाबा के दर पर

खाटूश्यामजी. जयपुर के विद्याधरनगर की रहने वाली दिव्यांग अंजू अग्रवाल पिछले चार से हर माह बाबा श्याम के दर पर पहुंच रही है। करीब चार साल पहले चालीस हजार वॉल्ट की बिजली लाइन की चपेट में आने से अंजू झुलस गई थी और इसके बाद उसका एक हाथ काटना पड़ा था। कुछ दिन आराम करने के बाद वो हर माह बाबा के दर पर हाजिरी देने लगी। सोमवार को अंजू पहली बार बाबा के दर पर पैदल आई। इस दौरान अंजू ने बताया कि जो आनन्द और खुशी पैदल आकर मिला वो बयां नहीं कर सकती|

खाटूश्यामजी. हाथ में निशान, मुख पर जय बाबा और चाह बाबा श्याम के दरबार में धोक लगाने और मन्नोती मांगने की। ना मीलों के सफर की थकान और ना ही पैरों में पड़े छालों की परवाह। हर कोई आस्था की डोर के सहारे खाटू दरबार की ओर खींचा चला आ रहा है। केशरिया रंग में रंगे बाबा के इन भक्तों का उत्साह देखते ही बनता है। ऐसे नजारे बाबा श्याम के फाल्गुनी लक्खी मेले के दौरान धाम की ओर जाने वाले हर रास्ते में पग पग पर नजर आ रहे हैं।

Khatushyamji mela 2018 live news updates:चूरमे का भोग लगा मांग रहे हैं मन्नत

लखदातारी बाबा श्याम के फाल्गुनी लक्खी मेले पर शुक्ल पक्ष की पंचमी पर मंगलवार को देशभर के हजारों रंग रंगीले भक्तों से रंगा नजर आया। श्रद्धालुओं ने बाबा को लड्डू, पेड़े, पंचमेवे और चूरमे का भोग लगाकर रिझाते नजर आए।श्याम मेले में अस्थाई दुकानों एवं बाहर से आए अनेक व्यापारियों के मुख्य बाजार में ली गई दुकाने सजने लगी हैं।

Khatushyamji mela 2018 live news updates:रींगस से लेकर खाटू तक भक्त ही भक्त

रींगस. बाबा श्याम का वार्षिक लक्खी मेला धीरे धीरे परवान पर आ रहा है। रींगस से लेकर खाटू धाम तक हर कदम पर श्याम भक्त ही श्याम भक्त नजर आने लग गए है। हाथों में बाबा श्याम की पताका जुबां पर बाबा का नाम पूरा माहौल भक्तिमय एवं श्याममय होता जा रहा है। बाबा श्याम के मेले में रींगस से लेकर खाटूधाम तक करीब छोटे बड़े सौ से भी ज्यादा भंडारे लगते हैं जिनमें से ज्यादातर भंडारे शुरू हो गए हैं। भक्तों के लिए एक से बढकऱ एक व्यंजनों की व्यवस्था है।

Khatushyamji temple Live darshan