Khatu Shyam Ji

लिखी है ये गजल सिर्फ तेरे लिये
दीवाने बने भी तो सिर्फ तेरे लिये।
किसी को नहीं देखेंगी अब ये आंखे
नजरे तरसेंगी भी तो सिर्फ तेरे लिये।।
।। जय श्री श्याम।।

 

शीश नवा के कृष्ण को, दिया शीश का दान,
अमर हुआ इतिहास में, यह महान बलिदान,
इस अतुलित बलिदान का, निकला यह परिणाम,
बर्बरीक अब है अमर, नाम हो गया श्याम।
।। जय श्री श्याम।।

%

Visitors

Khatu Shyam Ji History

Know More

Khatu Shyam Ji Aarti Time

Know More

Khatu Shyam Ji Live Darshan

Know More

Khatu Shyam Ji Festival

Know More